Search Engine Kya Hai –

Spread the love

                                    SEARCH ENGINE

हेलो दोस्तों आप सभी का हमारी webside hindiup में स्वागत है आज हम आपको सर्च इंजन के बारे में बतायेंगे| सर्च इंजन क्या है इसका इस्तेमाल किसलिए किया जाता है

या इसका प्रयोग क्यू करते है तो दोस्तों हम अपने मोबाइल या लैपटॉप या computer हम हमेशा और हर दिन अपने मोबाइल में कुछ न कुछ google पर सर्च करते है किसी टॉपिक के बारे में या छोटी से छोटी चीज के बारे में जानने के लिए हम गूगल पर सर्च करते है तो हम आपको बता दे की गूगल एक प्रकार का सर्च इंजन है| और आज के समय में सर्च इंजन हमारी जिंदगी का एक हिस्सा बन गया है|

जब से इन्टरनेट आया है आपके सभी सवालों का जवाबो का जवाब इन्टरनेट पर आपको बहुत ही आसानी से मिल जाता है आपको जिस टॉपिक या किसी चीज के बारे में कोई भी जानकारी चाहिए तो आप इन्टरनेट पर सर्च कर कुछ seconds में ही अपने सवालो के जवाब पा सकते है|

तो दोस्तों आपके मन में एक सवाल होगा की आप इन्टरनेट पर जो भी सर्च करते है आपके सवालों का जवाब आपको तुरंत कैसे मिल जाता है आपके द्वारा किये गये सवालो को कौन सर्च कर रहा है तो आइये आज हम आक्प्को इस बारे में पूरी जानकारी देते है|

सर्च इंजन क्या है?(What is search engine)…..

Search engine एक Web Based Tool या software है जो इन्टरनेट पर users को WWW (World Wide Web) information को सर्च करने में मदद करता है| सर्च इंजन एक प्रकार का प्रोग्राम है| जब भी कोई users कोई कीवर्ड या सवाल सर्च बॉक्स में सर्च करता है फिर submit button पर click करता है तो सर्च इंजन उसे समझाने की कोशिस करता है| की users क्या जानना चाहता है और उसके बारे में जानकारी को अच्छे से समझ सके|

सर्च इंजन ही वो जरिया है जिसके माध्यम से सर्च इंजन हमारे लिए जानकारी को खोजने का काम करता है इन्टरनेट पर बहुत सारी website है जिसमें आपको कुछ न कुछ जानकारी जरुर मिल जाती है| तो इन्टरनेट पर ऐसी बहुत सारी webside है जिसपे आप कुछ भी सर्च करेंगे आपको उसके बारे में जानकारी तुरंत मिल जाती है|  

सर्च इंजन का विकास कब हुआ-

पहला सर्च इंजन का विकास कब हुआ तो सबसे पहला खोज इंजन वान्देक्स था जो World Wide Web Wanderer के द्वार समाहरित किया गया| Web Crawler का विकास “मैथ्यू ग्रे” के द्वारा MIT में 1993 में हुआ था|

अलिवेब की खोज भी 1993 में ही आया था| क्रेव्लर का इस्तेमाल web page को खोजने के लिए 1994 में इसको जारी किया गया था क्रेव्लर की खोज web pages के शीर्षक तक ही सिमित रह गयी| सभी लोगो को याहू(Yahoo) सर्च इंजन बहुत ही ज्यादा पसंद आया इसपर web pages को खोजना सबसे आसान था|

Excite-

Excite को फरवरी में 1993 को लाँच किया गया Excite सर्च इंजन एक University का प्रोजेक्ट था और उस प्रोजेक्ट का नाम Architext था| इस प्रोजेक्ट पर 6 student चुप कर गोपनीय तरीके से काम कर रहे थे| यह प्रोजेक्ट 1995 में crawling search engine का रूप ले लिया|

Yahoo-

याहू का इस्तेमाल अभी भी कई जगहों पर किया जाता है याहू को 1994 में लाँच किया गया था| इसकी सुरुवात Stanford university में किया गया Jerry Yang and David Fillo ने इसकी सुरुवात की|

Lycos-

Lycos का जन्म 1994 में ही हुआ था यह सर्च इंजन के साथ ही web पोर्टल की सेवा भी देता है| इसके द्वारा ईमेल, सोशल नेटवर्किंग, और वेब होस्टिंग इन सभी का सेवा प्रदान करता है|

Webcrawler-

web crawler मेटा सर्च इंजन होता है इसका जन्म 20 अप्रैल 1994 में हुआ था गूगल और याहू दोनों का टॉप रिजल्ट web crawler हो दिखाता है|

Infoseek

Infoseek का जन्म भी 1994 में ही जन्म हुआ जिसके फाउंडर Steve Kirsch है| infoseek को INFOSEEK Corporation operate करता है|

AltaVista

AltaVista को 1995 में लाँच किया गया था| पहले के समय में AltaVista का सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता था यह सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन था 2003 में याहू ने AltaVista को खरीद लिया था और 2013 में याहू ने सभी सर्विस को बंद करके सर्च इंजन में फिर से आ गया|

Inktomi-

Inktomi सर्च इंजन को यूनिवर्सिटी में Develop किया गया था और इसको 1996 में लाँच किया गया था UC Berkeley professor Eric Brewer और Graduate student जिनका नाम Paul Gauthier ये Inktomi के Founder थे|

Web सर्च इंजन कैसे काम करता है?…..

आप सभी ने यह तो जान ही लिया होगा की सर्च इंजन क्या होता है तो आइये अब हम आपको बताते है की सर्च इंजन कैसे काम करता है| तो दोस्तों जब भी आप कोई भी कीवर्ड अपने mobile या लैपटॉप में type करते है और फिर उसे सर्च करते है तो हमें हमारे द्वारा type किये हुए कीवर्ड का इनफार्मेशन किसे दिखाता है| सर्च इंजन इसको बताने के लिए की यह कैसे काम करता है उसको तीन भाग में बाँटा है तो आइये जानते है वो तीन भाग कौन कौन से है|

  1. Crawling
  2. Indexing
  3. Retrieval.

Crawling search engine-

Crawling एक प्रकार का सर्च इंजन है जिसके द्वारा किसी नई या पुरानी webside को स्कैन करने का काम करता है और हमे इस webside को स्कैन करने के लिए रोबोट का इस्तेमाल करना पड़ता है| रोबोट को crawler या spider भी कहा जाता है| Spider का काम किसी भी webside के content को खोजना होता है| Spider का काम webside को scan करना होता है और सभी webside के pages के डिटेल को खोजता है की कौन कौन सा page किसके webside पर मिलेगा|

spider type किये हुए webpage को स्कैन करता है फिर उसके टाइटल और image के यूआरएल के कीवर्ड को स्कैन करता है उसके बाद उस page के webside को आपके सामने open कर देता है|

स्पाइडर Automated bot link के द्वारा किया जाता है| इसे Discovery कहा जाता है spider बहुत highspeed से webside के pages को रीड करता है| तथा गूगल यह मनाता है की 1 सेकंड में 100 से 1000 pages को visit करता है|

Indexing search engine

Indexing Search engine का ही एक process है जहा Indexing को Crawling के समय जो भी डाटा मिलता है वह सभी डेटाबेस को स्कैन करना सुरु कर देता है| सर्च इंजन दुनिया में जितने भी webside है उनसभी webside को Crawling और indexing करती है|

Google सर्च इंजन डाटा का बहुत ही बड़ा सर्वर है जो peta byte Drive में लाखो करोडो की संख्या में डाटा स्टोर रहता है गूगल पर spider हर रोज 3 ट्रिलियन pages को crawling करता है| सबसे ज्यादा मात्रा में पुरे विश्व भर में इनफार्मेशन गूगल के पास होती है|

Retrieval search engine

Retrieval सर्च इंजन का तीसरा और आखिरी स्टेप है| सर्च इंजन में यही स्टेप सबसे ज्यादा importent है गूगल का काम यही होता है की users जिस चीज के बारे में जानकारी को जानना चाहता है तो Exact उसी इनफार्मेशन के वेबसाइट के page को आपके सामने open करे गूगल Algorithm का इस्तेमाल करता है जो कुछ पैरामीटर के जरिये काम करता है|

Source. Selection. Query. Formulation. IR System. Search. Query. Selection. Ranked List. Indexing. Index. Examination. Document. Acquisition. Collection. Delivery. Document.

गूगल page रैंकिंग के जरिये users को इनफार्मेशन को दिखता है page रैंकिंग गूगल का सेकंड page होता है या homepage कहते है| बहुत से hackers google के ranking factors को हैंग करने में अपना दिमाग लगाते है| पहले रैंकिंग को बहुत ही आसानीसे साईट रैंक किया जाता था| लेकी अब कुछ सालो से गूगल में नये बदलाव होने लगे है| गूगल अब दुसरे साइट्स को पहले मौका देता है जो ज्यादा मेहनत करते है|

तो हमने आपको सर्च इंजन के तीनो स्टेप के बारे में बताया है| तो अब हम बात करते है की सर्च इंजन कितने प्रकार के होते है|

सर्च इंजन के प्रकार(Types of Search Engine)-

सर्च इंजन चार प्रकार के होते है-

  1. Crawler-Based Search Engine
  2. Web Directories
  3. Hybrid Search Engine
  4. Meta Search Engine

Crawler- Based Search Engine-

Crawler-based search engine में बहुत से webside होते है crawler based search इंजन ही सर्च इंजन के तीनो स्टेप crawling, indexing, ranking इन तीनो स्टेप्स को follow करते है|

Example-

  1. Yahoo
  2. Bing
  3. Google
  4. Yandex
  5. Ask
  6. DuckDuckGo

तो आपने देखा की ये सभी crawler based सर्च इंजन के उदहारण है|

Web Directories-

Web directories सर्च इंजन का डायरेक्ट्रीज सिस्टम होता है

यह बहुत से webside के link और उसके बारे में जानकारी दिया जाता है इसमे webside के category को अलग अलग लिस्ट बनाकर दिखाया जाता है यह डायरेक्टरी अपनी वेबसाइट को रजिस्टर करने के लिए वेबसाइट का owner अपनी cotegory को शॉर्टकट में लिखता है| इसमे अपने आप कोई भी काम नही होता है यह submit साईट को एडिटर द्वारा मेंटेन करता है जब यह डायरेक्टरी में बिल्कुल सही पाया जाता है तो उसे जोड़ दिया जाता है| और सही न होने पर रिजेक्ट कर दिया जाता है| आप google के सर्च बॉक्स में किसी भी वेबसाइट को कीवर्ड के द्वारा type करके सर्च कर उस वेबसाइट को open कर सकते है| लेकिन अब वेब  डायरेक्ट्रीज की ज्यादा जरुरत नही होती है इसकी value कम हो गयी है|

Example-

A1WebDirectory

Blogarama

9sites

Hybrid Search Engines-

Hybrid search engine का प्रयोग रिजल्ट को दिखाने के लिए करता है इसे show करने के लिए इसमे crawler और डायरेक्ट्रीज दोनों का प्रोयोग किया जाता है|

पहले डायरेक्ट्रीज का इस्तेमाल बहुत ज्यादा किया जाता था पहले के समय में google के द्वारा web directory को ज्यादा मान्यता दी जाती थी| लेकिन आज के समय में web directries को ज्यादा मान्यता नही दिया जाता है तथा हाइब्रिड सर्च इंजन crawler based सर्च इंजन होता जा रहा है|

Example-

Google

Yahoo

मेटा सर्च इंजन(Meta Search Engine)-

Meta search engine एक ऐसा सर्च इंजन है जो किसी दुसरे सर्च इंजन के डाटा को खोज कर लाकर उसके रिजल्ट को दिखाता है तथा जो रिजल्ट को दिखाता है उसे मेटा सर्च इंजन कहते है|

Example-

Dogpile

Metacrawler

Search engine me ranking Algorithm कैसे काम करता है?…..

Search engine को समझना बहुत ही आसन काम नही है| सर्च इंजन कैसे users के बातो को समझता है यह बहुत ही मुश्किल काम होता है दुनिया भर में जीतनी भी सर्च इंजन है कोई भी अपने Algorithm के बारे में बिल्कुल सही और पूरी जानकारी कभी नही देता है और बहुत सी बातो को सर्च इंजन का algorithm अपने तब ही गोपनीय रखता है| google पर जब भी किसी वेबसाइट को सर्च किया जाता है तब google 200 से अधिक rules को follow करता है| लेकिन वह नियम कौन कौन से होते है जिसको गूगल algorithm follow करता है यह कोई नही जानता है| क्यूकी उस नियम को हमेशा गोपनीय रखा जाता है|

सर्च अल्गोरिथम कैसे काम करता है?....

तो आइये जानते है की सर्च इंजन कैसे काम करता है और कौन कौन से स्टेप्स को follow करता है|

सर्च किये गये शब्दों या query को समझाना-

सर्च algorithm का सबसे पहला काम यही होता है की type किये हुए शब्द को समझाना| की जो भी शब्द type किया गया हैं वह कौन से लैंग्वेज में type किया गया है| और उस भाषा का क्या अर्थ होता है इस बात को जानना जरुरी होता है ताकि वह अपने रिजल्ट को show कर सके|

बहुत बार यूजर से type करते समय Spelling में गलती हो जाती है जिसको algorithm समझ कर Meanings को सही करता है| तो इस तरह से सब्दो को query करत है गूगल algorithm.

इंडेक्स से मिलान करना-

सर्च अल्गोरिथम में सर्च किये गये शब्द को समझने के बाद users द्वारा type किये गये डाटा को Index में जो डाटा स्टोर रहती है उससे मैच कराती है जब वह pages से मैच हो जाती है तो index उस page को सेलेक्ट कर लेता है और फिर देखता है की उस page को कितनी बार इस्तेमाल किया गया है और यूजर द्वारा जो कीवर्ड type किया गया है वह उस page के टाइटल में कही लिखा गया है या नही| इसके द्वारा इस बात को समझा जाता है की जो यूजर को जानकारी चाहिए वह उस page में है या नही|

Webpage की ranking करना-

इन्टरनेट पर ऐसी बहुत सारी वेबसाइट्स है जो users द्वारा type की गये words को बहुत ही आसानी से समझ लेती है और उस words से जुड़े बहुत से web pages को users के सामने खोल कर रख देती है और उस words की क्वालिटी के अनुसार रैंकिंग page को रैंक करता है और SERP में सबसे बेहतर page के URL को सबसे पहले दिखता है|

जो भी content यूजर द्वारा सर्च किया जा रहा है तो वह कीवर्ड page पर कितनी बार repead की जा रही है| और और सर्च page में जो भी जानकारी है वह कितनी सही है और कितनी फ्रेश है| और उस वेबसाइट का कितने लोग विश्वास करते है कितने लोग उस वेबसाइट का इस्तेमाल करते है| और जो भी यूजर किसी भी वेबसाइट का इस्तेमाल कर रहा है उसे उस वेबसाइट के बारे में कोई जानकारी है या नही और उस वेबसाइट की speed कितनी है की वह वेबसाइट कितनी तेजी से open हो रहा है|

इसमे ऐसे हजारो factors है जिसको page रैंकिंग के समय बहुत ही ज्यादा ध्यान में रखा जाता है|

Context का ध्यान रखना-

Google पर किसी भी words या query को जो यूजर द्वारा type किया गया होता है तो Context में कुछ अलग से एक्स्ट्रा इनफार्मेशन होती है कौन सा Location, Country, Area, Past search history को ध्यान में रख कर और सर्च सेटिंग के जरिये डाटा को फ़िल्टर किया जाता है और जो भी रिजल्ट्स show करता है वह बहुत ही जादा important होता है|

रिजल्ट को show करना –

सर्च इंजन algorithm जिसमे सभी बातो को ध्यान में रखते हुए आखिरी में रिजल्ट को show कर देता है की इसमे सभी सवालो के जवाब सही है या नही रिजल्ट में सिर्फ टेक्स्ट को ही नही बल्कि images और विडियो को भी अच्छे से समझाता है|

दुनिया भर के Top 10 Search Engine कौन से है ?…..

तो आइये जानते है की दुनिया भर में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन कौन कौन से है|

  1. Google
  2. Yahoo
  3. Bing
  4. Baidu
  5. Ask
  6. AOL
  7. Yandex
  8. DuckDuckGo
  9. Dogpile
  10. WolframAlpha

Google एक ऐसा सर्च इंजन है जो पूरी दुनिया भर में सबसे ज्यादा लोकप्रिय और सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन है| Netmarketshare के रिपोर्ट फरवरी में 2019 में पुरे देश में 70% surches google पर ही किये गये है|

Conclusion-

तो दोस्तों आज हमने आपको सर्च इंजन क्या है यह क्या और कैसे काम करता है इसके कितने प्रकार होते है इन सब के बारे में आपको जानकारी दी है हमे पूरी उम्मीद है की हमारी आज की पोस्ट आज आपको जरुर पसंद आई होगी आपको इस टोपिक के बारे में कोई भी जवाब या रे देनी हो तो आप निचे कमेंट बॉक्स में कमेंट कर हमसे सवाल कर सकते है आपको computer के किसी भी सवाल की जानकारी चाहिए तो आप निचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है हमारी पूरी टीम मिलकर आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिस करेंगी|

                  धन्यवाद्….  


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *